Search
Saturday 23 March 2019
  • :
  • :

नरेंद्र मोदी ने दी बिहार को बड़ी सौगात, जानें

नरेंद्र मोदी की सरकार ने चुनाव के पहले बिहार को बड़ी सौगात दी है। केंद्र सरकार ने पटना मेट्रो को मंजूरी दे दी है। अब पटना में मेट्रो ट्रेनों के दौड़ने का रास्ता साफ हो गया। दिल्ली में बुधवार को हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में नीतीश सरकार के प्रस्ताव पर अपनी मुहर लगा दी।

फाइल फोटो

केंद्र से पटना मेट्रो की स्वीकृति मिलने पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पीएम नरेंद्र मोदी को ट्वीट कर बधाई दी है। साथ ही केेंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बधाई देते हुए कहा कि यह बिहार के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। इतना ही नहीं, बिहार के राजनीतिक गलियारे में भी सत्ता पक्ष की ओर से पीएम को बधाई देने का तांता लगा हुआ है।

इसी प्रोजेक्‍ट पर बनना है पटना मेट्रो

बनाए जाएंगे दो कॉरिडोर

पटना मेट्रो परियोजना के तहत दो कॉरिडोर बनाए जाएंगे। ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर और नॉर्थ-साउथ कॉरिडोर। ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर की लंबाई 16.94 किमी होगी। जबकि नार्थ-साउथ कॉरिडोर की लंबाई 14.45 किमी होगी।

पटना मेट्रो के दोनों कॉरिडोर पर एक नजर

ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर: इस रूट में दानापुर, रूपसपुर, सगुना मोड़, राजा बाजार, गोल्फ क्लब, चिडिय़ाखाना, रूकुनपुरा, विकास भवन, विद्युत भवन, जंक्शन, मीठापुर बस स्टैंड आदि मेट्रो स्टेशन होंगे। ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर की लंबाई 16.94 किमी होगी। इसमें 5.49 किमी एलीवेटेड और 11.21 किमी अंडरग्राउंड होंगे। इस कॉरिडोर में स्टेशनों की संख्या 12 होगी।

नॉर्थ-साउथ कॉरिडोर: इस रूट में पटना जंक्शन, आकाशवाणी, गांधी मैदान, पीएमसीएच, पीयू, प्रेमचंद्र रंगशाला, राजेन्द्र नगर टर्मिनल, एनएमसीएच, कुम्हरार, गांधी सेतु जीरोमाइल, आईएसबीटी आदि मेट्रो स्टेशन होंगे। नॉर्थ-साउथ कॉरिडोर की लंबाई 14.45 किमी होगी। इसमें 9.90 किमी एलीवेटेड और 5.55 किमी अंडरग्राउंड होंगे। इस कॉरिडोर में स्टेशनों की संख्या 12 होगी।

पटना मेट्रो प्रोजेक्ट की शुरुआत 2016 में हुई थी

पटना मेट्रो प्रोजेक्ट का काम 2016 में शुरू हुआ था। केंद्रीय कैबिनेट के पहले इसी माह 6 फरवरी को केंद्रीय प्रोजेक्ट अप्रूवल बोर्ड ने इसे अपनी स्वीकृति दी थी। इसके पहले बिहार कैबिनेट ने पिछले साल 26 सितंबर को इस प्रोजेक्ट में संशोधन करते हुए अपनी मंजूरी दी थी। केंद्रीय कैबिनेट ने पटना मेट्रो प्रोजेक्ट को अगले पांच साल में जमीन उतारने का टारगेट रखा है।

13365.77 करोड़ होंगे खर्च

नगर विकास विभाग ने इस बाबत जानकारी दी है कि पटना मेट्रो रेल प्रोजेक्ट को पूरा करने पर 13365.77 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसमें 20 परसेंट केंद्र और 20 परसेंट राज्य सरकार खर्च उठाएगी। बाकी के परसेंट राशि पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन खर्च करेगा।

Courtesy: Bihar Speaks




AD