Search
Saturday 23 February 2019
  • :
  • :

दोस्ती जिंदाबाद, लेकिन कब तक…

Dostiनीतीश कुमार और लालू प्रसाद की दोस्ती आखिर बिहार विधानसभा चुनाव में रंग लायी. चुनाव 2015 को दोनों यादगार बना दिया. रिजल्ट ने सारे राजनीतिक पंडितों की भविष्यवााणी को कठघरे में खड़ा कर दिया. यहां तक कि चुनाव सर्वे और एग्जिट पोल के लिए सबसे विश्वसनीय मानी जानेवाली एजेंसी चाणक्य की रिपोर्ट भी गलत साबित हुई और इसके लिए एजेंसी ने माफी भी मांगी. बिहार विधानसभा चुनाव का परिणाम ने सबको चौंका दिया. 243 में से महागठबंधन को 178 सीटें मिलीं. इनमें राजद ने 80, जदयू ने 71 तथा कांग्रेस ने 27 सीटों पर कब्जा जमाया. एनडीए बुरी तरह से मात खा गया. इसके साथ ही नीतीश कुमार ने पांचवीं बार मुख्यमंत्री की कुर्सी भी संभाल ली और लगे हाथ तेजस्वी यादव सबसे कम उम्र में बिहार के डिप्टी सीएम भी बन गये, लेिकन तमाम लोगों की जुबान पर एक ही सवाल है कि नीतीश और लालू की दोस्ती की उम्र क्या होगी… ? ये दोस्ती कब तलक चलेगी… ? 




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AD