Search
Thursday 25 April 2019
  • :
  • :

बिहार में लालू-राबड़ी की वह कुर्ता फाड़ होली…

लालू यादव भले ही आज चारा घोटाला मामले में रांची जेल में बंद हैं, लेकिन उनकी होली आज भी राजनीतिक गलियारे से लेकर आम-अवाम के बीच चर्चा में बनी रहती है। यानी लालू की कुर्ता फाड़ होली। सबके कुर्ते फट जाते थे। जिनके कुर्ते नहीं फटे, उन्हें काफी अफसोस भी होता था। इतना ही नहीं, पटना स्थित लालू के सरकारी आवास पर ढोल-मजीरों के गूंज के बीच जब फाग जोर पकड़ता था, तो होली के तरह-तरह के रंग दिखते थे। क्या आम और क्या खास, हर कोई मदहोश हो जाता था।

तब यह नहीं गूंजता था कि ‘होलिया में उड़े रे गुलाल, कहियो रे मंगेतर से…’ तब इसका दौर चलता था कि ‘गोरिया करके श्रृंगार, अंगना में पीसे रे हरदिया, होली हो… होली हो…’ आज भी लालू आवास की होली को याद कर लोग पुराने दिनों की फगुआहट में खो जाते थे।

तब लालू यादव के दोनों बेटे तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव काफी छोटे थे। लालू की होली में केवल मंत्री-विधायक ही नहीं रहते थे, अफसर भी भेदभाव भूलकर होली खेलते थे। लालू की पत्नी राबड़ी देवी भी इसमें घुल-मिल जाती थी। फिर तो यह होली पटना से निकलकर नेशनल फेम बन जाती थी। गूगल पर तलाशिये तो आज भी लालू की होली की तमाम तस्वीरें सामने आ जाएंगी।

लालू की होली का यह रंग खासकर 1997 से 2000 तक चलता रहा। इसके बाद चारा घोटाला ने इसे बदरंग कर दिया। पर, आज भी लोगों को वह नजारा याद है, जब लालू कुर्ता फाड़कर बैठ जाते थे और राबड़ी देवी उन पर रंग डालती थीं और सरकारी आवास गूंज उठता था- ‘जोगीरा… सा… रा… रा… रा….।’
Courtesy : Bihar Speaks




AD