Search
Saturday 23 March 2019
  • :
  • :

लालू को दी नीतीश के इस MLA ने अजीब सलाह

बिहार के सीएम नीतीश कुमार के विधायक ददन पहलवान ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को अजीब सलाह दी है। जदयू विधायक ने कहा कि लालू को यदि अपना कुल बचाना है तो वे अपने बड़े बेटे तेजप्रताप यादव की पत्नी ऐश्वर्या की शादी छोटे बेटे तेजस्वी यादव से करा दें। बता दें कि जदयू विधायक ददन पहलवान अभी बिहार के डुमरांव विधानसभा क्षेत्र के विधायक हैं।

डुमरांव के जदयू विधायक ददन पहलवान ने बक्सर में कहा कि यादव के कुल में यह परंपरा लंबे अरसे से चलती आ रही है कि य​दि परिवार का कोई लड़का साधु-महात्मा बन जाता है, तो उसकी पत्नी की शादी छोटे बेटे के साथ करा दी जाती है, ताकि वंश चलता रहे। कुल आगे बढ़ता रहे। 

उन्होंने नाम लेते हुए कहा कि लालू यादव के परिवार में अभी ऐसी ही स्थिति चल रही है। लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप साधु-महात्मा बनने की दिशा में बढ़ चले हैं। वे अपनी ही पत्नी को तलाक देना चाहते हैं। ऐश्वर्या उनकी ब्याही हुई पत्नी हैं, लेकिन उसके साथ वे रहना नहीं चाहते हैं। तलाक का मुकदमा चल रहा है। 

दरअसल लालू यादव ने दो ​दिन पहले यानी तीन मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में जुटी भीड़ की संख्या पर तंज कसते हुए कहा था कि नरेंद्र मोदी, नीतीश और पासवान जी ने महीनों ज़ोर लगा सरकारी तंत्र का उपयोग कर गांधी मैदान में उतनी भीड़ जुटाई है, जितनी हम पान खाने अगर पान की गुमटी पर गाड़ी रोक देते हैं तो इकट्ठा हो जाती है। जाओ रे मर्दों, और जतन करो, कैमरा थोड़ा और ज़ूम करवाओ।’ 

इसी पर पलटवार करते हुए जदयू विधायक ददन पहलवान ने पलटवार करते हुए कहा कि लालू यादव हमारी यादव के जाति के बड़े नेता हैं। उन्हें पटना के डाकबंगला चौराहे पर पान खाने के लिए रुकते हुए हमने भी देखा है। लालू गाड़ी में बैठे होते थे और उनके आने की जानकारी मिलते ही कुछ लोग जुट जाते थे। ऐसा तो हर पान दुकान पर होता है। मीडिया से बात करने के दौरान ही उन्होंने लालू यादव को ऐश्वर्या की शादी तेजस्वी से कराने की अजीब सलाह दी।

ददन ने कहा कि तेजप्रताप की पत्नी ऐश्वर्या राय कोई मामूली परिवार से नहीं हैं. दरोगा बाबू यादव जाति से बिहार के पहले मुख्यमंत्री रहे थे। उनकी पोती हैं ऐश्वर्या। यादव की बेटी की इज्जत लालू यादव के हाथ में है। लालू यदि यादव परिवार का इज्जत रखना चाहते हैं तो तेजस्वी की शादी ऐश्वर्या से करा दें। यह यादव खानदान में पंरपरा भी रही है। इससे दोनों परिवारों में खुशियां आ जाएंगी। 




AD