Search
Thursday 25 April 2019
  • :
  • :

तेजप्रताप फिर गुस्से में, राजद के लोगों को चेताया

बिहार : राजद सुप्रीमो लालू यादव के लाल फिर गुस्से में दिखे. गुस्सा बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने दिखाया. पटना में उन्होंने बिना नाम लिये राजद के कई वरीय नेताओं को निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि मुझे रोकने की हिम्मत किसी में नहीं है. उन्होंने चेताते हुए कहा कि छात्र राजद को कोई कमजोर करने की कोशिश न करे. यह वाकया हुआ गणतंत्र दिवस के मौके पर.

दरअसल गणतंत्र दिवस के मौके पर तेजप्रताप यादव राजद कार्यालय में जनता दरबार लगानेवाले थे. वे पिछले माह से जनता दरबार लगाते आ रहे हैं. लेकिन जब वे पटना स्थित राजद कार्यालय पहुंचे तो वहां ताला लगा हुआ था. फिर क्या था, तेजप्रताप आगबबूला हो उठे. पार्टी के कई लोगों को निशाने पर लिया. किसी तरह मुख्य दरवाजे का ताला खुला तो अंदर के कमरे में भी ताला लगा हुआ था. इसके बाद तो उनका धैर्य जवाब दे दिया.

“हमारी लोकप्रियता से घबराए हुए लोग हमें नहीं रोक सकते हैं. किसी की साजिश नहीं चलेगी. जरूरत पड़ी तो मैं तेजस्वी से भी बात करूंगा. “

गुस्से में तेजप्रताप ने राजद के प्रदेश अध्‍यक्ष रामचंद्र पूर्वे पर तंज कसा. सूत्रों की मानें तो उन्होंने औकात में रहने की चेतावनी तक दे दी. असल में झंडोत्तोलन के बाद प्रदेश अध्यक्ष कार्यालय में ताला लगवाकर चले गए थे. शायद उन्हें नहीं पता था कि तेजप्रताप वहां आनेवाले हैं. इसी बीच डेली की तरह तेजप्रताप यादव वहां पहुंच गए. फिर तो ताला ने मामले को ही बिगाड़ दिया. करीब

आधे घंटे तक गेट पर इंतजार करते हुए उन्होंने कई जगह कॉल किया. यहां तक कि उन्‍होंने प्रदेश राजद अध्‍यक्ष रामचंद्र पूर्वे को भी फोन किया. ताला भी खुला, लेकिन वे जनता दरबार नहीं लगा सके. इसके बाद भुनभुनाते हुए लौट गए. तेजप्रताप ने प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे पर भड़ास निकालते हुए कहा कि किसी की हिम्मत नहीं है कि उन्हें रोक दे. उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी में रहना है तो सबको साथ लेकर चलना पड़ेगा. हमारी लोकप्रियता से घबराए हुए लोग हमें नहीं रोक सकते हैं. किसी की साजिश नहीं चलेगी. उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ी तो मैं तेजस्वी से भी बात करूंगा.




AD