Search
Friday 23 June 2017
  • :
  • :

मीराधा की आत्मा में बसी हैं मीरा और राधा

Miradha 1हिंदी फिल्म मीराधा. मतलब मीरा और राधा. डायरेक्टर हैं अाशीष सिन्हा. बिहार के हैं. मीराधा पूरी तरह उनके निर्देशन में बनने वाली पहली फिल्म है. आशीष सिन्हा बिहार के पटना की मिडिल क्लास फैमिली से पल-बढ़ आज बॉलीवुड की दुनिया में विशेष पहचान बना ली है.

 

 

बिहार के बेटे ने बनायी मीराधा
आशीष सिन्हा अब तक असिस्टेंट डायरेक्टर के रूप में काम कर रहे थे. उन्होंने कई शॉर्ट फिल्मों के अलावा डॉक्यूमेंटरी फिल्मों का भी निर्देशन किया है. बतौर डायरेक्टर आशीष सिन्हा की मीराधा पहली फिल्म है. बकौल आशीष सिन्हा, आनेवाली फिल्म मीराधा बन कर तैयार है. यह 19 अगस्त को रिलीज होनेवाली है. यह एक रोमांटिक मूवी है, लेकिन इसमें पारिवारिक सरोकारों को संजो कर रखा गया है. बस इसके रिलीज होने का इंतजार है. वे कहते हैं कि मीराधा में सभी कलाकार नये हैं, लेकिन प्रेम व पारिवारिक मूल्यों किसी तरह का समझौता नहीं किया गया है. यह फिल्म इसी साल रिलीज होगी. इसके अलावा भोजपुरी फिल्म सिंह भइया भी अंतिम चरण में है.

पिता जी चाहते थे कि मैं डॉक्टर बनूं
आशीष कहते हैं कि पेशे से मैनेजर रहे मेरे पिता रंजीत सिन्हा नहीं चाहते थे कि मैं मायानगरी में जाऊं. वे चाहते थे कि मैं भी अपने बड़े भाई की तरह डॉक्टर बनूं. फैमिली के दबाव में मैंने डॉक्टरी की परीक्षा भी दी. पिताजी ने काफी समझाया कि फिल्मों में कैरियर नहीं है, लेकिन मेरी इच्छा डॉक्टर नहीं, बल्कि डायरेक्टर बनने की थी. मेरे दृढ़संकल्प को देखते हुए पिताजी फिर तैयार हो गये और उन्होंने मुझे मुंबई जाने की इजाजत दे दी है. इस तरह मैं मायानगरी पहुंच गया.

थियेटर ने दिखायी नयी राह
बकौल आशीष सिन्हा, बॉलीवुड में आने के लिए और लिंक बनाने के लिए उन्होंने सबसे पहले थियेटर ज्वाइन किया. इस बीच मैंने ग्रेजुएशन की पढ़ाई भी पूरी कर ली. लेकिन, थियेटर को भी जारी रखा. अभिनेता और निर्देशक के तौर पर उन्होंने इसमें मैंने अपना बेस्ट परफॉर्मेंस किया. साथ ही पटना ही नहीं, इलाहाबाद, लखनऊ समेत अन्य राज्यों में मंचन किया. थियेटर जगत में एनएसडी के संजय उपाध्याय ने गुरु के तौर पर कदम-कदम पर उनका साथ दिया. इसके अलावा उन्होंने टीवी फिल्म का प्रोफेशनल कोर्स किया, जहां उन्होंने अपने बैच में अव्वल रहे.

गुरु मिले, लेकिन कोई गॉड फादर नहीं
आशीष के जीवन का असली संघर्ष मुंबई में शुरू हुआ. वे माया नगरी तो आ गये, लेकिन उनका कोई गॉड फादर नहीं था. लेकिन, वे राजकपूर, यश चोपड़ा, गुरुदत्त, ऋषिकेश मुखर्जी, राजकुमार हिरानी जैसे निर्देशक के काम से काफी प्रभावित थे और मन-ही-मन उन्हें अपना गुरु मानते थे. मेहनत और थियेटर में काम करने की वजह से उन्हें ‘जस्सी जैसी कोई नहीं’, ‘बाल बाल बच्चे’, ‘कहीं तो होगा’, ‘साथिया’ आदि कई धारावािहकों में अशीष को सहायक निर्देशक के रूप में काम करने का मौका मिला.

 

आशीष सवाल पर कहते हैं कि भोजपुरी फिल्म में अभी भी बदलाव की जरूरत है. जहां दूसरी रीजनल फिल्में हिट हो रही हैं, वहीं भोजपुरी फिल्में अभी भी अश्लीलता और फूहड़ता पे टिकी हुई हैं. दर्शक अच्छी फिल्म के लिए तैयार हैं. ऐसे में फिल्मकारों को ही कदम उठाना होगा.

 

तो मुड़ गया मैं फिल्मों की ओर
आशीष की मानें तो सीरियल्स में न तो कोई रचनात्मकता होती है, न ही कुछ अलग करने का मौका मिलता है. यह सोच कर सीरियल छोड़ने का विचार किया और फिल्म की ओर मुड़ गया. इसके बाद कई फिल्मों में एसोसिएट डायरेक्टर के रूप में काम किया. मसलन माई फ्रेंड गणेशा (सिरीज पार्ट 1 और 2 ), मैं कृष्णा हूं, अशोक चक्र आदि में सहायक निर्देशक के रूप में काम किया. इस दौरान उन्हें ऋतिक रोशन , कैटरीना कैफ, जूही चावला, यशपाल शर्मा, उपासना सिंह जैसे कई दिग्गज कलाकारों साथ काम करने का मौका मिला.

कई शॉर्ट फिल्में हुईं नाेमिनेटेड
Miradhaआशीष सिन्हा ने कई शॉर्ट फिल्मों का भी निर्देशन किया. खासकर अतुल क्वांडरी, आइ विल बीएन इंजीनियर, लेगसी आदि शॉर्ट फिल्में कई फेस्टिवल्स में नॉमिनेट भी हुईं. इसके अलावा कई टेली फिल्म, वीडियो फिल्म, कॉरपोरेट फिल्म, डॉक्यूमेंटरी, एेड फिल्मों को भी इन्होंने निर्माण किया है. बकौल आशीष, मैंने फिल्म तोमाची में उन्होंने पटकथा एवं संवाद भी लिखा है और वह इस फिल्म के क्रिएटिव डायरेक्टर भी हैं. इस फिल्म में यशपाल शर्मा, रति अग्निहोत्री, उपासना सिंह जैसे कलाकारों ने काम किया है. यह फिल्म जल्द ही बड़े परदे पर आने वाली है.

19 अगस्त को आ रही है मीराधा
बतौर डायरेक्टर के रूप में अशीष सिन्हा की पहली फिल्म मीराधा 19 अगस्त को रिलीज हो रही है. यह एक रोमांटिक म्यूजिकल मूवी है. इसमें मीरा और राधा की कहानियों को नये जमाने के अनुसार प्रस्तुत किया गया है. फिल्म की पूरी शूटिंग राजस्थान और मुंबई में हुई है. एसपीजे इंटरटेनमेंट के बैनर तले बनी इस फिल्म में संदेश गौर, सुहानी जेथलिया, वीनस जैन आदि नये कलाकारों ने अभिनय किया है. फिल्म का निर्माण सूर्या जेथलिया ने किया है. फिल्म सेंसर से भी पास हो चुकी है.

भोजपुरी फिल्म में भी आजमा रहे हैं हाथ
बिहार के लाल अशीष सिन्हा हिंदी के अलावा भोजपुरी फिल्म में भी हाथ आजमा रहे हैं. भोजपुरी फिल्म सिंह भइया भी लगभग बन कर तैयार है. इस मूवी में सुजीत सिंह, संजय पांडे, प्रिया शर्मा, माया यादव, संजय वर्मा, धर्मेंद्र सिंह जैसे नये-पुराने कलाकारों को लिया गया है. आशीष कहते हैं कि यह एक एक्शन और इमोशनल फिल्म होगी. वे सवाल पर कहते हैं कि भोजपुरी फिल्म में अभी भी बदलाव की जरूरत है. जहां दूसरी रीजनल फिल्में हिट हो रही हैं, वहीं भोजपुरी फिल्में अभी भी अश्लीलता और फूहड़ता पे टिकी हुई हैं. उनके अनुसार दर्शक अच्छी फिल्म के लिए तैयार हैं. ऐसे में फिल्मकारों को ही कदम उठाना होगा.
– राजेश ठाकुर (साभार प्रभात खबर)




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shailesh MLAनीतीश कुमार के बिहार के मुख्यमंत्री बनने पर हार्दिक बधाई : शैलेश कुमार, जद यू विधायक (जमालपुर, बिहार)

 

 

 

anant satyarthiनीतीश कुमार के बिहार के मुख्यमंत्री बनने पर हार्दिक बधाई : अनंत सत्यार्थी, जद यू विधायक (मुंगेर, बिहार)

 

 

 

Anil Singhप्रतीक पीआईटीआई, सितुहार (हवेली खड़गपुर, मुंगेर) की ओर से छात्रों को दुर्गापूजा की हार्दिक बधाई : अनिल कुमार सिंह, सचिव

 

 

 

 

रामविलास पासवान के कैबिनेट मंत्री बनने व चिराग पासवान की जीत पर हार्दिक बधाई  : राजीव कुमार सिंह, लोजपा नेता (पूर्व प्रत्याशी, तारापुर विधान सभा क्षेत्र, बिहार)

 

 

ssssराजनीतिक अड्डा परिवार को पहली वर्षगांठ पर हार्दिक बधाई : प्रो. सुनील विक्रम सिंह, टीडी कॉलेज, जौनपुर (यूपी)

 

 

 

रामविलास पासवान के कैबिनेट मंत्री बनने व चिराग पासवान की जीत पर हार्दिक बधाई  : राजीव कुमार सिंह, लोजपा नेता (पूर्व प्रत्याशी, तारापुर विधान सभा क्षेत्र, बिहार)